pr sreejesh

28 नवम्बर, 2018 से पुरुष हॉकी विश्व कप का चौदहवां संस्करण शुरू हो रहा है। इसके लिए कुल सोलह टीमों ने क्वालीफाई किया और इन्हें चार ग्रुप में बांटा गया है। भारत कुल तीसरी बार हॉकी विश्व कप की मेज़बानी करेगा।

भारत के ओडिशा में 28 नवम्बर की रात से ही टीमों के बीच विश्व विजेता बनने की होड़ शुरू हो जाएगी और 16 दिसंबर की रात हमें एक नया विश्व विजेता मिलेगा। भारत, मनप्रीत सिंह की कप्तानी में अच्छा प्रदर्शन करने के इरादे से उतरेगी। लेकिन संभव ही भारत को पूर्व कप्तान, सरदार सिंह की कमी खलने वाली है।

पहले दिन खेले जाएंगे दो मैच

indian hockey

पहले दिन कुल दो मुक़ाबले होने हैं। ये दोनों ही मुक़ाबले ग्रुप-सी की टीमों के बीच खेले जाएंगे। पहला मुक़ाबला बेल्जियम और कनाडा के बीच खेला जाएगा। भारतीय समयानुसार, मुक़ाबला शाम पांच बजे शुरू होगा।

और पढें – ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ़ पहले टेस्ट में पृथ्वी शॉ की जगह ले सकते हैं ये बल्लेबाज

वहीँ दूसरा मुक़ाबला मेज़बान भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेला जायेगा। शाम सात बजे भारतीय फैन इस मैच का लुत्फ़ उठा सकते हैं। भारत युवा टीम के साथ मैदान पर उतर रहा है। लेकिन घरेलू दर्शकों का समर्थन संभव ही विश्व की पांचवें नंबर की टीम का मनोबल ऊंचा करेगी।

एसवी सुनील और सरदार सिंह की कमी

sv sunil

अनुभवी डिफेंडर, एसवी सुनील हाल ही में एक प्रैक्टिस सत्र के दौरान चोटिल हो गए थे। कारणवश उन्हें पूरे विश्व कप से बाहर होना पड़ा। वहीँ सरदार सिंह का विश्व कप से तुरंत पहले संन्यास लेना भारत को कहीं न कहीं बेकफुट पर धकेल चुका है।

यह भी पढें – साल के अंत तक नोवाक जोकोविच का विश्व रैंकिंग में पहला स्थान सुरक्षित

खैर! अभी भी भारत के पास विश्व स्तरीय गोल-कीपर, पीआर श्रीजेश हैं। उनके साथ साथ आक्रामक अटैक भी है। अटैक का भार मुख्य रूप से ललित कुमार उपाध्याय, आकाशदीप सिंह और युवा टैलेंट दिलप्रीत सिंह पर होगा।

भारतीय स्क्वाड:

डिफेंडर: हरमनप्रीत सिंह, बिरेन्द्र लाकरा, वरुण कुमार, कोथाजीत सिंह, सुरेन्द्र कुमार, अमित रोहिदास।

मिड-फ़ील्डर: मनप्रीत सिंह(कप्तान), चिंगलेन्साना सिंह(उप-कप्तान), नीलकंठ शर्मा, हार्दिक सिंह, सुमित।

फॉरवर्ड: मंदीप सिंह, आकाशदीप सिंह, दिलप्रीत सिंह, ललित कुमार उपाध्याय, सिमरनजीत सिंह

गोल-कीपर: पीआर श्रीजेश,कृषण पाठक