Wednesday , February 20 2019
Breaking News
Home / खेल / हॉकी वर्ल्ड कप 2018: भारत के पास होम-ग्राउंड पर विश्व-विजेता बनने का सुनहरा मौका

हॉकी वर्ल्ड कप 2018: भारत के पास होम-ग्राउंड पर विश्व-विजेता बनने का सुनहरा मौका

हॉकी वर्ल्ड कप की तैयारियाँ चरम पर हैं। भारत, युवा मनप्रीत सिंह की कप्तानी में ख़िताब की दौड़ में शामिल है। ऑस्ट्रेलिया, डिफेंडिंग चैंपियंस हैं। इसलिए उन पर दबाव होना लाज़िमी सी बात है, भले ही वो विश्व की नंबर-1 टीम ही क्यों ना हो।

भारत के ओडिशा में 28 नवम्बर से 16 दिसम्बर तक दुनिया की टॉप टीमों के बीच चमचमाती ट्रॉफी को अपने नाम करने की होड़ जारी रहेगी। बीते कई दशकों में भारत विश्व कप अपने नाम नहीं कर सका है। लेकिन बीते दो वर्षों में हेड-कोच हरेन्द्र सिंह की देखरेख में टीम ने आक्रामक रुख अपनाया है, जो कि टीम के लिए प्लस पॉइंट साबित होने जा रहा है।

और पढें – 5 कारण आपको गाजर का हलवा क्यों खाना चाहिए

भारत को मेज़बानी का फ़ायदा

manpreet singh

भारत कुल तीसरी बार विश्व कप की मेज़बानी कर रहा है। घरेलू दर्शकों का साथ, ज़ाहिर तौर पर टीम के लिए अच्छे परिणाम अपने साथ लिए खड़ा है। लेकिन मेज़बान होने का भी अपना अलग ही दबाव है, जिससे निपटना मेज़बान खिलाड़ियों के लिए चुनौती साबित हो सकता है।

अनुभवी डिफेंडर, एसवी सुनील पहले ही चोट के चलते टूर्नामेंट से बाहर हो चुके हैं। दूसरी तरफ़ विश्व कप से तुरंत पहले सरदार सिंह का संन्यास लेना भारतीय टीम को बैकफुट पर धकेल चुका है।

और पढें – वेस्टइंडीज़ टेस्ट सीरीज़ हारने के करीब, 75 रन के स्कोर पर गिरे पांच विकेट

ऑस्ट्रेलिया के पास लगातार तीसरा ख़िताब जीतने का मौका

australia hockey

बीते दो संस्करणों से ऑस्ट्रलियाई टीम विश्व विजेता रही है। इस टीम के पास सुनहरा मौका है कि वो लगातार तीन बार हॉकी विश्व कप जीतने वाली दुनिया की एकमात्र टीम बन जाए।

और पढें – सर्वाइवर सीरीज़ रिजल्ट: टीम रॉ ने टीम स्मैकडाउन को एक भी मैच में नहीं करने दी जीत दर्ज

इससे पहले पाकिस्तान ने लगातार दो ख़िताब जीते थे। 1978 और 1982, लगातार दो विश्व ख़िताब जीतने वाली पहली टीम बनी थी पाकिस्तान। ऑस्ट्रेलिया, 2010 और 2014 के ख़िताब अपने नाम कर चुकी है।

भारतीय स्क्वाड:

गोल-कीपर: पीआर श्रीजेश,कृषण पाठक,

डिफेंडर: हरमनप्रीत सिंह, बिरेन्द्र लाकरा, वरुण कुमार, कोथाजीत सिंह, सुरेन्द्र कुमार, अमित रोहिदास।

मिड-फ़ील्डर: मनप्रीत सिंह(कप्तान), चिंगलेन्साना सिंह(उप-कप्तान), नीलकंठ शर्मा, हार्दिक सिंह, सुमित।

फॉरवर्ड: मंदीप सिंह, आकाशदीप सिंह, दिलप्रीत सिंह, ललित कुमार उपाध्याय, सिमरनजीत सिंह

Must Read – Social Media | Website | SEO | Google Ad words

About admin

Check Also

Australia v Jordan - AFC Asian Cup Group B

एशिया कप फुटबॉल: डिफेंडिंग चैंपियन ऑस्ट्रेलिया पहले ही मुक़ाबले में पस्त

फुटबॉल एएफसी एशिया कप में डिफेंडिंग चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को बड़े उलटफेर का शिकार होना पड़ा …