india hockey

हॉकी विश्व कप 2018 में भारत का शानदार प्रदर्शन जारी है। भारत को क्वार्टरफाइनल में जगह बनाने के लिए कनाडा पर केवल जीत की ज़रूरत थी। भारत ने न केवल जीत हासिल की बल्कि एकतरफ़ा जीत हासिल करते हुए मैच जीता है।

ग्रुप ए से अर्जेंटीना, ग्रुप बी से ऑस्ट्रेलिया और अब ग्रुप सी से भारत ने अंतिम आठ में प्रवेश पाया है। आख़िरी ग्रुप मैच कल खेले जाएंगे। एक तरफ़ जर्मनी, मलेशिया के खिलाफ़ जीत हासिल करते ही अंतिम आठ में प्रवेश पा लेगी। दूसरी तरफ़ नीदरलैंड्स के लिए मुश्किलें बढ़ती नज़र आ रही हैं।

भारत ने दर्ज की एकतरफ़ा जीत

india hockey

हालाँकि भारत ने धीमी शुरुआत की। जिससे ऐसा प्रतीत होने लगा था कि कनाडा इस मैच को जीतने जा रही है। पहले हॉफ़ तक भारत, 1-0 से आगे चल रहा था। लेकिन कनाडाई खिलाड़ियों ने पहले हॉफ़ में मेज़बान टीम को कड़ी टक्कर दी।

और पढें – 96 वर्ष के हुए दिलीप कुमार

परन्तु जैसे ही दूसरा हॉफ़ शुरू हुआ, एक के बाद एक गोल की झड़ी सी लग गयी। हालाँकि शुरुआत कनाडा की ओर से हुई, जब 39वें मिनट में वैन सन ने कनाडा को बरबरी पर ला खड़ा किया। तीसरे क्वार्टर तक दोनों टीमें 1-1 की बरबरी पर थीं।

चौथा क्वार्टर भारत के नाम

मैच के आख़िरी पंद्रह मिनट में भारतीय खिलाड़ियों ने विपक्षी टीम की धज्जियाँ उधेड़ते हुए पांच मिनट के भीतर ही तीन गोल दागे। इन तीन गोल की बदौलत, भारत 4-1 से आगे हो चला। ललित कुमार उपाध्याय ने मैच में दो गोल दागे।

harmanpreet singh

मैच का आख़िरी और भारत का भी आख़िरी गोल 57वें मिनट में आया। कुल मिलाकर भारत ने 5-1 के अंतर से मुक़ाबला जीत, आसानी से क्वार्टरफाइनल में प्रवेश पाया।

इससे पहले बेल्जियम ने दक्षिण अफ़्रीकी टीम को 5-1 के अंतर से ही हरा भारतीय टीम के लिए मुश्किलें खड़ी कर दी। यदि कनाडा, भारत को ड्रा पर रोकने में सफ़ल होता, तो बेल्जियम को सीधे क्वार्टरफाइनल में प्रवेश मिल जाता।