manpreet singh

ओडिशा में चल रहे हॉकी विश्व कप में क्वार्टरफाइनल में भारत का मुक़ाबला नीदरलैंड्स से हुआ। करीबी मुक़ाबले में भारत को हार का सामना करना पड़ा है। इसी के साथ भारत का पूरे 43 साल से चला आ रहा विश्व कप जीतने का सपना अधूरा ही रह गया।

भारत ने पहली और आख़िरी बार 1975 में विश्व कप पर कब्ज़ा जमाया था। 1975 में फाइनल मुकाबले में भारत ने पाकिस्तान को 2-1 की हार दे पहली बार विश्व कप जीता। हालाँकि भारत ने शुरुआत अच्छी की जब मैच के बारहवें ही मिनट में आकाशदीप सिंह ने भारत को शुरुआती बढ़त दिलाई।

यह भी पढ़ें: देश की अगली पीटी ऊषा बनने को संघर्ष कर रही युवा एथलीट रिंकू

बिंक्मन ने नीदरलैंड्स को दिलाई बराबरी

india hockey

आकाशदीप के गोल के मात्र तीन मिनट बाद ही, यानी पन्द्रहवें मिनट में थियरी ब्रिन्क्मन ने नीदरलैंड्स को बराबरी पर ला खड़ा किया। इस बाद दो क्वार्टर गोल रहित रहे।

दोनों ही टीमों का डिफेन्स सर चढ़कर बोल रहा था। लेकिन मैच के 50वें मिनट में मिंक अलफोंस ने पेनल्टी कॉर्नर को गोल में तब्दील कर नीदरलैंड्स के लिए विजयी गोल दागा। अब सेमीफाइनल में नीदरलैंड्स का सामना डिफेंडिंग चैंपियंस ऑस्ट्रेलिया से होना है। ऑस्ट्रेलिया जो कुल तीसरी बार विश्व विजेता बनने की ओर मजबूती से कदम बढ़ा रही है।