novak djokovic

साल के आख़िरी बड़े इवेंट एटीपी फाइनल्स में नोवाक जोकोविच को एलेक्जेंडर ज्वेरेव के खिलाफ़ करारी हार मिली। जर्मनी के इस खिलाड़ी ने विश्व नंबर-1 को 6-4, 6-3 के स्कोर से सीधे सेटों में मात दी।

बता दें कि इससे पहले जोकोविच को पेरिस मास्टर्स टूर्नामेंट के फाइनल में भी नीची रैंकिंग के खिलाड़ी के खिलाफ़ हार का सामना करना पड़ा था। पेरिस मास्टर्स के फाइनल में उन्हें रूस के केरेन खाचानोव ने उन्हें 7-5, 6-4 से हार का स्वाद चखाया।

विश्व रैंकिंग पर नहीं पड़ेगा ख़ास असर

लगातार दो फाइनल हारने के बाद भी नोवाक जोकोविच इस साल के अंत तक विश्व टेनिस रैंकिंग्स में पहले स्थान पर बने रहेंगे। क्योंकि निकटतम प्रतिद्वंद्वी, राफेल नडाल पर वो अच्छी बढ़त बनाये हुए हैं।

Read More – वेस्टइंडीज़ टेस्ट सीरीज़ हारने के करीब, 75 रन के स्कोर पर गिरे पांच विकेट

novak djokovic

क्योंकि अब साल का कोई बड़ा टूर्नामेंट बाकी नहीं रह गया है। इसलिए स्पेन के राफेल नडाल के पास पहले स्थान के लड़ने का कोई मतलब ही नहीं रह जाता।

और पढें – बॉलीवुड की सबसे हॉट और ख़ूबसूरत अभिनेत्रियाँ

राफेल नडाल, 7480 पॉइंट्स के साथ दूसरे, रॉजर फेडेरर 6420 पॉइंट्स के साथ तीसरे स्थान पर बने हुए हैं। वहीँ ज्वेरेव को जोकोविच पर मिली जीत का फ़ायदा हुआ। वो अब अर्जेंटीना के जुआन मार्टिन डेल पोत्रो को पांचवे स्थान पर धकेल, चौथे स्थान पर विराजमान हो गए हैं।

इस साल जीते दो ग्रैंड-स्लैम ख़िताब

novak djokovic

इस साल उन्होंने चार में से दो ग्रैंड-स्लैम ख़िताब अपने नाम किये हैं। विम्बल्डन के फाइनल में उन्होंने केविन एंडरसन को बड़ी ही आसानी से सीधे सेटों में मात दी थी। वहीँ यूएस ओपन के फाइनल मुक़ाबले में भी उन्हें जुआन मार्टिन डेल पोत्रो के खिलाफ़ बिना कोई सेट गंवाए जीत हासिल हुई।

Must Read – कौन करेगा सैथ रोलिंस का ओपन चैलेंज स्वीकार

इन दो ख़िताब के अलावा वो दो टेनिस वर्ल्ड टूर मास्टर्स 1000 ख़िताब जीतने में भी सफ़ल रहे। सिनसिनाटी मास्टर्स और शंघाई मास्टर्स में मिली जीत के बाद उन्हें पिछले साल के मुक़ाबले रैंकिंग में ख़ासा फ़ायदा हुआ। यही कारण है कि उनका विश्व रैंकिंग में पहला स्थान सुरक्षित हो चला है।

यह भी पढें – WWE की सबसे ख़ूबसूरत और हॉट डीवा रैसलर